WORLD SOIL DAY 2020: इसका इतिहास, और “विश्व मृदा दिवस” क्यों मनाया जाता है

WORLD SOIL DAY 2020: इसका इतिहास, और “विश्व मृदा दिवस” क्यों मनाया जाता है

 

WORLD SOIL DAY 2020: इसका इतिहास, और “विश्व मृदा दिवस” क्यों मनाया जाता है

 

पेड़ो को काटने से मिट्टी को हो रहे नुक्सान को लेकर लोगो में जागरूकता फैलाने के लिए WORLD SOIL DAY हर साल मनाया जाता है|

 

नई दिल्ली: world soil day 2020: हर साल 5 दिसम्बर को ही पुरे विश्व में “विश्व मृदा दिवस” (WORLD SOIL DAY) मनाया जाता है| “विश्व मृदा दिवस” जनसंख्या में बढ़ोतरी की वजह से होने वाली समस्या को उजागर करता है और इसी वजह से इस दिशा में काम करना काफी जरूरी हो गया है और इस दिशा में काम करना आवश्यक है| ताकि खाद्य समस्या सुनिश्चित की जा सके| मिट्टी के निर्माण में विभिन खनिजो के अनुपात से हवा और कार्बनिक पदार्थ से होता है| यह जीवन के लिए अत्यंत आवश्यक है क्युकि इससे पेड़ पौधों का निर्माण होता है और कीड़ों को रहने की जगह मिल जाती है| यह भोजन,कपड़े,रहने की जगह और चिकित्सा सहित चार आवश्यक “जीवित” कारको का स्त्रोत है| इस कारण मिटटी के नुक्सान के बारे में लोगो में जागरूकता फैलाने के लिए “WORLD SOIL DAY” 5 दिसम्बर को मनाया जाता है|

 

 “विश्व मृदा दिवस” का सम्पूर्ण इतिहास 

 

 २००२ में अंतराष्ट्रीय मृदा विज्ञान संघ ने 5 दिसम्बर को हर साल विश्व मृदा दिवस मनाने की सिफारिश की थी| साथ ही खाद्य और कृषि संगठन ने भी विश्व मृदा दिवस की स्थापना को वैशिक जागरूकता बढ़ने के लिए थाईलैंड के नेत्रित्व में समर्थन किया| एफएओ के सर्वसम्मति से जून २०१३ में विश्व मृदा दिवस का समर्थन किया| तथा ६८ वे सयुक्त राष्टी महासभा में इसको मनाये जाने का अनुरोध किया| इसके बाद २०१३ में ६८ वे सत्र में संयुक्त राष्टी महासभा ने ५ दिसम्बर को विश्व मृदा दिवस को मनाये जाने की घोषणा कर दी| पहला विश्व  मृदा दिवस दिवस ५ दिसम्बर २०१४ को मनाया गया था|

 

WORLD SOIL DAY: 2020 की थीम 

 

खाद्य और कृषि संगठन के अनुसार, विश्व मृदा दिवस 2020 की थीम “पर्यावरण प्रेमियों से सम्बंधित, इस वर्ष का अभियान है “ मिट्टी को जीवित रखना, मिट्टी को जैव विविधता की रक्षा करना है मृदा को बेहतर बनाने की लिए हमे पैर [पौधों की रक्षा करनी होगी     

 

Related posts

Leave a Comment