अनलॉक ५.० के दौरान स्कूल खोलने के लिय होंगे दिशानिर्देश

अनलॉक 5.0के दौरान स्कूल खोलने के लिय होंगे दिशानिर्देश
  • क्या होंगे अनलॉक ५.० में स्कूल खोलने को लेकर नियम
  • स्टूडेंट्स जा पाएंगे अनलॉक ५.० में स्कूल
  • २० से अधिक बच्चे नहीं बैठ सकेंगे एक क्लास में
  • स्कूल में आने और बहार जाने के लिए दो गेट होंगे 

हमारे देश में १ अक्टूबर से अनलॉक ५.० की शुरुआत होगी। जिसमे लोगो को सबसे ज्यादा उत्सुकता स्कूल और कॉलेजो के खुलने को लेकर है। अगर स्कूल और कॉलेज खुलते है तो स्कूल में आने और बाहर जाने के लिए अलग – अलग गेट का इस्तेमाल करना होगा। किसी भी क्लास में २० से अधिक students को बैठने की अनुमति नहीं दी जाएगी। स्टूडेंट्स को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए क्लास में बैठाया जायेगा। बच्चो को लंच बॉक्स साझा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। अब अनलॉक ५.० के दौरान ही यह स्पष्ट होगा की स्टूडेंट १ अक्टूबर से स्कूल जा पाएंगे या अभी कुछ और महीने करने होंगे इंतजार।

स्कूल और कॉलेज पर सन्देह

कोरोना वायरस का संक्रमण देश में लगातार बढ़ रहा है। जिससे वायरस के बढ़ने का डर बना हुआ है। इसीलिए स्कूल और कॉलेज को खोलने पर सन्देह बना हुआ है। देखा जाये तो देश के कुछ राज्यों में कोरोना महामारी में भी २० सितम्बर से स्कूलों को आंशिक रूप से खोला गया है। लेकिन देश के अधिकांश राज्यों में स्कूल अभी भी बंद है।

माहामारी में ऑनलाइन शिक्षा 

क्योकि राज्य सरकार इस महामारी काल में स्कूल खोलने को लेकर कोई ठोस निर्यण लेने में असमर्थ महसूस कर रही है क्योकि स्कूल खोलने पर बच्चे एक जगह एकत्रित हो जायेंगे जिसे कोरोना संक्रमण बढ़ने का खतरा रहेगा। इसके साथ ही स्टूडेंट्स के माता – पिता भी कोरोना जैसी महामारी को लेकर डरे हुए है। इस महामारी के दौरान ज्यादा तर राज्यों में बच्चो को ऑनलाइन शिक्षा पर निर्भर कराया गया है। फिर भी यह उम्मीद जताई जा रही है की १ अक्टूबर से स्कूल खोलने को लेकर सरकार कुछ नियम दिशानिर्देश निर्धारित करेगी।

अनलॉक ४.० में क्लास ९ से १२ स्कूल खोला गया  

इस भयानक वायरस के कारण देश लॉकडाउन के बाद अभी अनलॉक ४.० चल रहा है। अनलॉक ४.० में देश की सरकार ने कुछ दिशा निर्देश जारी किये थे। जिसमे कहा गया था की कक्षा ९ से १२ तक के स्टूडेंट्स के लिए स्कूलों को फिर से खोल दिया जाये। इसपर सरकार ने कुछ नियम निर्धारित किये थे। इसमें यह साफ साफ कहा गया था की कोरोना काल के दौरान किसी भी स्टूडेंट्स को स्कूल जाने के लिए मजबूर नहीं किया जा सकता है। अगर स्टूडेंट्स स्कूल जाना चाहता है तो जा सकता है।

इसमें यह भी कहा गया था की माता – पिता के लिखित सहमति के बाद ही स्टूडेंट्स स्कूल जाकर अपने टीचर से कुछ पढ़ या पूछ सकता है। अनलॉक ४.० का समाप्त होने वाला है और जल्द ही अनलॉक ५.० में हम प्रवेश करने वाले है। अनलॉक ५.० के लिए जल्द ही सरकार अपने दिशानिर्देश जारी कर देगी।

अगर देखा जाये तो अभी देश में कोरोना का संकरण बढ़ता ही जा रहा है। जिससे स्कूल और कॉलेज को खोलने को लेकर समस्या बनती ही जा रही है। यही वजह है की स्टूडेंट्स के माता – पिता भी स्कूल खोलने के पक्ष में कुछ नहीं कह रहे है। माता – पिता भी अपने बच्चे के भविष्य को लेकर चिंतित है।

Related posts

Leave a Comment